ssssssssss_InPixio-Recovered2

Exam Tension in Hindi

Exam Tension क्यो होता है और इससे बचने के उपाय क्या है?

EXAM TENSION 2

Exam Tension क्यो होता है ?

What is the Exam  tension.

Exam tension तब होता है, जब विद्यार्थी साल भर मेहनत नही करते और परीक्षा नजदीक आते ही tension में आकर पढ़ाई करते है। जब कम समय में अधिक काम करना हो तो तनाव पैदा होना लाजमी है। ओर परिणाम जब अच्छा नही आता तो मानसिक दवाब के कारण बच्चे आत्महत्या तक कर बैठते है। हमारा देश इस मामले में प्रथम स्थान पर है। यह एक गंभीर विषय है, आमतौर पर सही मार्गदर्शन के अभाव में विद्यार्थी ठीक से पढ़ाई नही कर पाते ।

         इसलियें मैं इस लेख के जरियें विद्यार्थी तक यह संदेश पहुंचाना चाहती हूँ, कि आप शुरू से ही पढ़ाई की ऐसी रूपरेखा बनाये कि परीक्षा आने पर आप टेंशन में न आयें ।

        कहा जाता है कि अभ्यास में जो जितना अधिक पसीना बहाता है, युद्ध में जीत उसी की होती है। आज के समय में अच्छे नंबरों से पास होना युद्ध से कम नही है।

        जैसे युद्ध में जीत हासिल करने के लिए योद्धा पहले रूपरेखा बनाता है, फिर कई दिनों तक अभ्यास करता है। अपने आप में काॅन्फिडेंस लाता है, फिर युद्ध में उतरता है, और जीत हासिल करता है। उसी तरह आपको पढ़ाई करना चहिए ।

        किसी भी परीक्षा में सफलता पाने के कुछ टिप्स में आप को दे रही हूँ, इन्हें पढ़िये और आज से ही अपनी रूपरेखा तैयार कीजियें ।

सफलता के सूत्र

How to Prepare for an exam? ( Exam preparation tips )

1.) टाईम टेबल बनाईये और फालो कीजिये :-

         हर परीक्षा में सफलता पाने और exam tension से बचने के लिए आवश्यक है, आप अपनी पढ़ाई का सही समय निर्धारित कर एक समय सारणी बनाये और उस सारणी में हर विषय को इस तरह निर्धारित करें कि आप हर विषय पर पूरा ध्यान दे पायें। और जो टाइम टेबल आपने बनाया है, उसका पालन जरूर करें। यह सफलता का पहला सूत्र है। और पहले से ही अधिक से अधिक समय पढ़ने की आदत डाले  जिस से परीक्षा के समय आप पढ़ाई के  लोड को झेल सकें। और exam tension ना हो पाये।

2.) लक्ष्य निर्धारित करे :-

       आप हर हफ्ते या महिने का लक्ष्य निर्धारित करके पढे़गें तो साल के अंत में बिना बेचैनी और टेंशन के आप परीक्षा दे पायेंगें ।

       जैसे यदि आपने लक्ष्य बनाया कि एक चैप्टर इतने दिन में खत्म करना है या आज इतना खत्म करके ही सोऊंगा। तो उसे खत्म करके ही आपको सोना है। जीवन में अपनी पढ़ाई के लक्ष्य निर्धारित होने चाहिए । जिस विषय पर आप कमजोर है उसे शुरू से ही ज्यादा समय दे । Exam tension का यह भी एक बहुत बड़ा कारण है, कि समय रहते हम अपनी कमजोरीयों को दूर नहीं करते है।

3.) आज का काम कल पर न टालें :-

         अपने कार्याे को टालने की आदतों को छोड़ दिया तो आप परीक्षा में क्या पूरी लाईफ में सफलता पाने में पीछे नही रह सकते । जो कार्य जरूरी है उसे सही समय पर करे। आपने एक दोहा सुना ही होगा ।

‘‘ काल करे सो आज कर , आज करे सो अब ।

पल में परलय होयगी, बहुरि करेंगा कब ।।

लेकिन आज की पीढ़ी ने एक नये दोहे को जन्म दिया  है ।

‘‘ आज करे सो काल कर, काल करें सौ परसो ।

इतनी जल्दी क्या करें, अभी पड़े है बरसों ।।

         पर दोस्तों सच्चाई यह है कि इस दोहे पर जिसने भी अमल किया है, वह हर क्षेत्र में हमेशा ही पीछे रहा है । इसलिये जो सफल व्यक्ति बनना चाहता है तो सब जरूरी काम समय पर करने की आदत डालें। अगर आप समय से पूर्व तैयारी कर लेंगे तो exam tension आप को छू भी नहीं सकता है।

4.) बड़े कार्याे को छोटे छोटे भागों में बाॅटें:-

पढाई करते समय जो chapter या formula हमें बड़े लगते है तो उन्हें छोटे छोटे भागों में विभाजित किया जा सकता है। इससे पढ़ना आसान और रूचिकर हो जाता है।

जैसे कोई भी काम हम शुरू करते है, तो शुरूआत में बहुत कठिन और असंभव लगता है और हम घबरा जाते है कि ये काम हम कैसे करेंगे। पर यदि समझदारी से हम उसे छोटे छोटे टुकड़ों में बाँट लेते है, तो वही काम हमारे लिए आसान हो जाता है। इसी प्रकार छोटे छोटे लक्ष्य को हासिल करते हुए हमारा आत्मविश्वास बढ़ता जाता है और हम exam tension झेलनें में सक्षम होते हैं।

5.) प्रीवियस एग्जाम पेपर हल करें:- 

        एग्जाम समय में रिलेक्स रहनें का सबसे अच्छा तरीका यह है, कि आप ज्याद से ज्यादा प्रिवियस एग्जाम पेपर हल करें। आप जितने पेपर हल करेंगे, आपका आत्मविश्वास उतना ही बढ़ता जायेगा। 

        आप पेपर हल करनें की अवधि फिक्स करके रखें। यदि तीन घंटे का एग्जाम है, तो आपको भी तीन घंटे में हल करनें की कोशिश करनी है। और यदि प्रिवियस एग्जाम पेपर हल नहीं करना है तो आपनें जितना टॉपिक पढ़ लिया है। उस से ही परीक्षा में आने वाले पेपर की तरह ही सेम्पल पेपर बनाइये और उसी फिक्स समय में उसे हल करनें की कोशिश कीजिये। 

       हमें परीक्षा समय में टेंशन क्यो हो जाती है? क्योंकि हम अपने दिमाग को एग्जाम मोड में नही ला पाते है। Exam tension और डर को दिमाग से निकालने के लिये, हमें प्रिवियस पेपर या सेंपल पेपर समय सीमा में हल करनें की प्रेक्टिस करना होगी। इस तरह से आप किसी भी परीक्षा को आसानी से पास कर सकते है।

6.) खानपान पर ध्यान दें:-

        बच्चों को हमेशा संतुलित भोजन करना चाहिए। हेवी खाना बिल्कुल न खायें जैसे पिज्जा, बर्गर, कोल्ड्रिग्स जैसे जंक फूड से बचें। हेवी खाने से बच्चों को आलस और बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है। 

      बच्चों को ज्यादातर घर पर बना हुआ भोजन ही खाना चाहिये। जिससे बच्चा स्वस्थ रहे और मन लगाकर पढ़ाई कर सके।

       भोजन का सही तरीका है, कि आप सुबह हेवी नास्ता करें। दोपहर का भोजन उससे हल्का करें और रात का भोजन उससे भी हल्का लें। खानें में सलाद ओर द्रव्य पदार्थों को जरूर शामिल करें। क्योंकि आप सन्तुलित भोजन लेंगे तो आप स्वस्थ रहेंगे और मन लगाकर पढ़ाई कर सकेंगे। 

7.) पढ़ाई के बीच में आराम भी करें:-

        जब भी पढ़ते समय आप थकान महसूस करें, तो कुछ देर अल्प विराम जरूर करेें। आमतौर पर पढ़ाई करते समय 40-40 मिनिट बाद थोड़ा रेस्ट कर लेना चाहिए। आपको मालूम होगा स्कूलों कालेजों में एक पीरियड 40-45 मिनिट का इसीलिये होता है।

8.) मुख्य बिन्दुओं को हाईलाईट करें:-

        जब भी आप पढ़ने बैठे और आपको कोई महत्वपूर्ण नाम तिथि स्थान या वाक्य दिखाई देता है, तो तुरंत उसे अंडरलाईन करें। इससे रिवीजन में आपको अच्छी मदद मिलेंगी । इससे पढ़ते समय एक हाईलाईटर पेन लेकर जरूर बैठे ।

9.) अध्यापक की मदद लेें:-

         यदि आप कालेज या कोचिंग कहीं पर भी पढ़ाई कर रहे है, और यदि कोई प्रश्न आपको समझ में नहीं आता है, तो पूछने में संकोच न करें। हो सकता है बार बार प्रश्न पूछने से आपकों डाॅट भी खाना पड़े पर विश्वास कीजिए जो विद्यार्थी वास्तव में सीखने की इच्छा रखता है। उसे सभी टीचर्स पसंद करते है और उसकी मदद करते है ।

समय रहते डाउट क्लियर करने से आप एक्जम समय में exam tension से बचे रहेंगे।

10.) ऊर्जा स्तर को जानें:-

         हर विद्धार्थी अपनी शारीरिक और मानसिक ऊर्जा स्तर को ध्यान में रखते हुए पढ़ाई करें। उदाहरण के तौर पर कुछ बच्चे सुबह के समय अपने आप को Fresh और energetic महसूस करते है, तो कुछ शाम के समय और कुछ रात को। कुछ लोगों को सुबह उठकर पढ़ा हुआ ज्यादा अच्छे से याद रहता है, तो कुछ को रात देर तक पढ़ना अच्छा लगता है।

         पर दिनचर्या सुबह देर से उठना और रात को देर तक पढ़नें की नही होना चाहिये।

11.) पोजिटीव सोच:-

        एग्जाम में सफलता पाने के लिए सोच का सकारात्मक होना जरूरी है। सकारात्मक विचारों से आपका मनोबल बढ़ेगा और आप परीक्षा में अच्छा बेहतर प्रदर्शन कर पायेंगें । अपने आप को विश्वास दिलायें कि कितनी भी कठिन परिस्थितियों का सामना क्यों न करना पड़े पर आप सफल जरूर होगें और अच्छे अंक प्राप्त करेंगें ।

         इन सूत्रों से मैं यह बताना चाहती हॅू कि जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए अपने मन को असफलता के डर से ग्रसित न होने दें । क्योंकि यह डर ही है जो हमें जीवन में आगे बढ़ने नही देता ।

          आज के युग में काम्पीटिशन ज्यादा है पर अच्छी सोच रखकर हम मेहनत करते है, तो सफलता हमें एक न एक दिन जरूर  हासिल होती ही है।

  नई पोस्ट

Follow Us

Contact Us

Lyrics in Life 

क्या है?

          Lyrics in Life एक ऐसा मंच है। जहाँ पर हमारी कौशिस हे, कि ईश्वर ने प्रकृति के रुप में हमे जो वरदान दिया है, उसे स्वीकार्य करें और प्रकृति के विरुद्ध अपनी अंतहीन दौड़ खत्म कर एक स्वस्थ, दीर्धायु एवं प्राकृतिक जीवन का आनन्द लें।

      इस मंच पर अपने विचार, ज्ञान, एवं अनुभव साझा करें ताकी हम सब मिलकर एक बेहतर समाज का निर्माण कर सकें।

Copyright © 2018 Lyricsinlife.com.   |     About us.     |    Privacy Policy.